Important -


◦ "डाॅ. कुमार विश्वास की प्रेरणादायी शायरी" Post में और Extra शायरियां जोड़ी गई है, आप इसे यहां Click करके पढ़ सकते है। Thanks!
◦ "विचार ही जिंदगी बनाते है!" Law of Attraction in Hindi पोस्ट को और अधिक Meaningful और Quality युक्त बनाया गया है, आप इसे यहां Click करके पढ़ कते है। Thanks!
◦ New!!! विचार प्रेरणा ब्लाॅग की सारी Posts एक साथ पढने के लिए ऊपर के पेज सेक्शन में All Posts पर Click करें और सभी Posts पढने का आनंद ले। Thanks!



यह ब्लाॅग आपको कैसा लगा? यह हमें Comments के माध्यम से जरूर बताए। आपके Valuable Comments ही इस ब्लाॅग को चलाए रखने में हमारा हौसला बढाते है। Thanks!!!

Sunday, 10 January 2016

रिटायरमेंट से पहले और रिटायरमेंट के बाद की वित्तीय आजादी




Save Money

Financial Independence Before Retirement and after retirement in Hindi


दोस्तों जैसा कि मैंने आपसे वादा किया है कि मैं आपके जीवन में सेहत, सकारात्मकता और समृद्धि को भरने के लिए यह ब्लाॅग लिखता हूं। तो इसी कड़ी में पहली बार आज मैं आपके लिए समृद्धि (जो धन के माध्यम से प्राप्त की जा सकती है) से संबधित लेख लेकर आया हूं और आपसे वादा है कि आगे भी इस तरह के लेख मैं आपके लिए लेकर आता रहूंगा। 
मुख्यतः धन कमाने के दो तरीके Income Source होते है- पहला प्रत्यक्ष दूसरा अप्रत्यक्ष। अंग्रेजी में जिसे 1. Active Income या Direct income और 2. Passive Income या Indirect Income कहते है। 
प्रत्यक्ष Active Income- Active Income वह है जिसे आप स्वंय कमाते है। दूसरे अर्थाें में जितना पसीना आप बहाते है उसके बदले में मिलने वाली राशि प्रत्यक्ष या एक्टिव मनी कहलाती है। इसे ऐसे भी समझ सकते है कि आप अगर एक दूकानदार है तो जितनी देर आप दूकान पर बैठे रहते है, उतनी ही देर तक ग्राहकों को सामान बेच पाते है और पैसा कमा पाते है, तो यह Active Income है। धन कमाने के इस तरीके से आपने पैसा तो कमाया है लेकिन इसके एवज में आपने अपनी तरफ से कुछ दिया है भी है जैसे कि दूकान में किया गया Invest, आपके द्वारा दिया गया Time। यह बात नौकरी में भी लागू होती है। निसंदेह प्रत्यक्ष मनी हमारे जीवन के लिए आवश्यक है, यह हमें जीवन और मेहनत से जोड़े रखती है लेकिन यह हमें समृद्ध तो नहीं बना सकती है। क्योकि इसके लिए हम अपना भुगतान कर चुके होते है।
दूसरा तरीका है
अप्रत्यक्ष Passive Income-  धनवान होने का यही तरीका आसान और कारगर है। ऐसा नहीं है कि इसमें आपको कुछ भी Invest करना नहीं होता, दरअसल आपकों इस मनी को प्राप्त करने के लिए निवेश तो करना होता है मगर इसके बाद वह निवेश खुद ब खुद आपकों संपन्न बनाता जाता है।
"एकल आय पर निर्भर कभी नहीं रहना चाहिए, दूसरा आय का स्रोत बनाने के लिए निवेश करे।"
- वारेन बफे Warren Buffet 
Indirect Income को ऐसे भी समझा जा सकता है- आपकों मकान या दूकान से प्राप्त होने वाला किराया, आपके द्वारा लिखी गई पुस्तक या गाए गए गाने के माध्यम से प्राप्त होने वाली राॅयल्टी, आपकी Website पर लगाए गए विज्ञापनों Advertisements से होने वाली आय, आपके द्वारा शेयर मार्केट (Share Market) में किसी अच्छी कंपनी में Invest किया गया धन, बैंक या अन्य वित्तीय संस्थानों में निवेश किये गए धन पर चक्रवृद्धि रूप से प्राप्त होने वाला ब्याज, व्यावसायिक रूप से खरीदा गया कोई प्लाॅट जो अच्छी लोकेशन पर है, आपकी दूकान, Restaurants या बिजनेस में आपके अधीनस्थ कार्य करने वाले कर्मचारियों द्वारा आपके लिए कमाया गया धन यह सभी Passive Money के अन्तर्गत आता है। और सच माने तो यही वह धन है जो आपकों वित्तीय आजादी (Financial Independence ) प्रदान करता है।
Vichar Prerna Blog

पेसिव मनी क्यों आवश्यक है- दोस्तों यदि आप घूमना चाहते है, अपने अन्य शौक पूरा करना चाहते है तो यह आवश्यक है कि आपके पास पेसिव इनकम के साधन होने चाहिए। Suppose करे आप एक व्यापारी है
और दूकान पर अकेले ही व्यापार चलाते है। आप अंडमान निकोबार घूमना चाहते है लेकिन घूमने के दौरान आपकी दूकान बंद रहेगी। ऐसे में क्या होगा? आप घूम तो लेंगे लेकिन पीछे आपकों दूकान बंद रखने का नुकसान होगा और यह तय है कि आप इस चिंता में घूमने का आनंद नहीं ले पाएंगे। आप क्या सोचते है कि अगर Sachin Tendulkar का घर खर्च खेल पर ही चल रहा होता तो क्या वें इतना अच्छा खेल पाते? शायद नहीं। (सचिन तेदुंलकर खेल को अपना शौक मानकर खेले इसीलिए वे अपने कार्यक्षेत्र में इतनी प्रगति कर सके।) सचिन तेंदुलकर के कई रेस्टोंरेंट और अन्य निवेश है जिनसे उन्हें आय प्राप्त होती रहती है और वे अपना ध्यान बिना किसी चिंता के अपने खेल पर लगा सकते है। और तो और चालीस साल की उम्र से पहले ही Sachin Tendulkar Retire होकर भी हर साल लाखों रूपये कमा रहे है, वजह है पेसिव इनकम। पेसिव मनी इसलिए भी आवश्यक है कि हर इंसान अपने जीवन में कुछ करने का सपना देखता है चाहे वह दुनिया घूमना हो, किताब लिखना हो, कोई खेल खेलना हो या कोई बिजनेस शुरू करना हो। लेकिन जैसे जैसे हम बड़े होते जाते है, नई परेशानियां हमारे साथ जुड़ती जाती है जिससे हमारे सपने पीछें छूट जाते है। लेकिन अगर हम बाद में भी इन सपनों को पूरा करने का ख्याल हमारे मन मे लाते है तो सबसे पहले एक चिंता उभर कर आती है वित्तीय स्वतंत्रता। हम अपने मौजूदा बिजनेस, नौकरी को छोड़कर वे सब नहीं कर पाते जो करना चाहते थे, लेकिन पेसिब इनकम वह साधन है जो आपकों जीवन के हर पड़ाव पर वित्तीय आजादी देगा और आपके शौक को पूरा करने के लिए आपकों सहारा देता रहेगा।
तो कोशिश कीजिए कि जीवन में ऐसे साधन बनाते रहे जिससे आपकों Passive Income होती रहे। यकीन माने यह तरीका सही है और आपकों चिंता मुक्त (Tension Free life) तो रखता ही है साथ ही आपकों रिटायरमेंट से पहले और रिटायरमेंट के बाद किसी भी प्रकार की वित्तीय संकट (Financial Problem) से बचाता है।

--------------------Written By Ram Lakhara--------------------

Write with us-


यदि आपके पास Hindi में है कोई Motivational Article, या कोई Good Essay अथवा कोई Inspirational Quotes अथवा Stories तो हमें लिख भेजे Vicharprerna@gmail.com पर. आपकी सामग्री krutidev010, Devlys010 or Google unicode फॉण्ट में हो तो बेहतर है. अपनी Content के साथ अपना फोटो जरूर भेजे. पसंद आने पर हम इसे अपने Blog पर Publish करेंगे।

2 comments:

  1. Aapka yah lekh bahut hi helpful aur achcha hai. shukriya bhai sahab. bahut badhiya

    ReplyDelete

Subscribe Every New Post

अब हर नई पोस्ट की सूचना ईमेल के माध्यम से पाए

Enter your email address:-