Thank You.........

Thank You.........

Important -


◦ "डाॅ. कुमार विश्वास की प्रेरणादायी शायरी" Post में और Extra शायरियां जोड़ी गई है, आप इसे यहां Click करके पढ़ सकते है। Thanks!
◦ "विचार ही जिंदगी बनाते है!" Law of Attraction in Hindi पोस्ट को और अधिक Meaningful और Quality युक्त बनाया गया है, आप इसे यहां Click करके पढ़ कते है। Thanks!
◦ New!!! एक नया काॅलम शुरू किया है -'फलसफ़ा ज़िंदगी का' । इस काॅलम में रोजमर्रा की जिंदगी में सामने आने वाली सच्ची प्रेरणादायक कहानियों को फंडे की बात के साथ मैं यहां आपके लिए शेयर करता रहूंगा। Be Positive. Thanks!



यह ब्लाॅग आपको कैसा लगा? यह हमें Comments के माध्यम से जरूर बताए। आपके Valuable Comments ही इस ब्लाॅग को चलाए रखने में हमारा हौसला बढाते है। Thanks!!!

Saturday, 6 July 2013

लोग क्या कहेंगे Motivational and inspirational article in hindi

दुनिया का सबसे बड़ा डर क्या है? लोग क्या कहेंगे



motivational hindi article on vichar prerna blog
दुनिया का सबसे बड़ा डर क्या है ? आप जानते है?  इसका जवाब है - लोग क्या कहेंगे! मैं ऐसे कई लोगो से मिला हु जो कुछ करना तो चाहते है पर उनकी राह में बाधा है ये एक वाक्य- लोग क्या कहेंगे? अरे लोग तो तब भी कहेंगे जब आप कुछ नहीं करोगे. इस संसार में जो व्यक्ति अपनी धुन में रहता है वही आगे बढ़ता है.

लोग क्या कहेंगे ये समझाने के लिए एक कहानी मुझे अपनी जिंदगी में सबसे बढ़िया लगी और वो है एक पिता पुत्र की कहानी जो एक गधे को साथ में लेकर गाँव गाँव घूमते है और लोगो के अलग अलग तर्कों से रु ब रु होते है. आप में से कई इसे सुन चुके होंगे लेकिन मैं भी इसे संक्षेप में बता ही देता हु-  एक बार एक पिता ने अपने पुत्र को दुनिया के कुछ महत्वपूर्ण बाते बताने का निर्णय लिया जिसमे से एक था लोग क्या कहेंगे?

इसके लिए वो अपने पुत्र को लेकर एक गधे सहित यात्रा पर निकला. उस समय दोनों पैदल थे और गधा साथ में था. जैसे ही आगे निकले कुछ लोगो ने कहा कैसे आदमी है ? साधन पास में है पर पैदल चल रहे है. ये सुनकर पुत्र ने गधे की सवारी कर ली और पिता को भी बिठा दिया , पिता चुप रहा क्युकी वो अपने पुत्र को सिखाना चाहता था. कुछ देर आगे बढ़ने के बाद लोग कहने लगे की कैसे जालिम इन्सान है जो दोनों एक गधे पर बैठे है. ये सुनकर पुत्र नीचे उतर गया और आगे बढ़ने लगा. कुछ देर निकलने के बाद एक गाँव में लोगो ने देखा तो कहने लगे की कैसा बाप है जो खुद आराम से चढ़ा है और अपने छोटे पुत्र को पैदल चला रहा है. ये सुनकर पिता नीचे उतरा और पुत्र को बिठाकर आगे बढ़ा कुछ दूरी तय करने के बाद लोगो ने देखते ही एक दुसरे को कहना शुरू कर दिया कैसा कुपुत्र है खुद गधे पर बैठा है और पिता को पैदल चला रहा है.ये सुनकर पुत्र नीचे उतरा और गाँव वालो से झगड़ने के लिए जाने लगा पर पिता ने उसे रोक लिया और समझाया की मैं तुम्हे जिंदगी का यही सबक सीखाना चाहता था- हम चार जगहों से गुजरे और लोगो ने अलग अलग बाते की और मैंने ये भी देखा कि तुम सब की बाते मानते रहे. मेरे पुत्र यही सन्देश है की जिंदगी में जो काम करो अपने मन की मान कर करो. लोग क्या कहते है ये लोगो पर छोड़ दो?
motivational hindi article on vichar prerna blog

यह कहानी मुझे हमेशा प्रेरणा देती है. मेरा यही मानना रहा है की '' लोग हमारे बारे में क्या सोचते है ये भी अगर हम सोचेंगे तो फिर लोग क्या सोचेंगे!''

इसलिए उन्हें उनका काम करने दो और आप अपना काम करो.
मेरे आस पास के कई लोग मेरी भाषा के लहजे, मेरे ढंग आदि पर व्यंग्य कसते और नक़ल भी करते है लेकिन मैं कभी इसकी परवाह नहीं करता और मैंने आज भी अपने अन्दर के बच्चे को जिन्दा रखा है जिसे हर इन्सान को रखना जरुरी होता है बशर्ते वो जिंदगी खुल कर जीना चाहता है तो ? हमें बस अपना काम करना है, दुनिया का काम कहना है और वो कहती ही रहेगी.

ये बात  हम निम्न उदहारण से भी समझ सकते है -
सोचिये अगर आप अपने बच्चो को ज्यादा प्यार कर रहे है तो लोग क्या कहेंगे कि इतना प्यार मत करो बच्चे ऊपर चढ़ जायेंगे. और अगर उनकी बात मानकर बच्चो को पीटना शुरू कर देते है तो लोग क्या कहेंगे - कैसा बाप है देखो तब बच्चो को डांटता और मारता है. अगर आप अपनी पत्नी को ज्यादा प्यार कर रहे है तो लोग कहेंगे कि ये तो जोरू का गुलाम है और अगर इसके विपरीत आप पत्नी को मारने पीटने लग जाओगे तब ही लोग कहेंगे - कैसा आदमी है एक ये बेचारी अपना घर छोड़ के इसके पीछे आई है और ये है की अपनी पत्नी को परेशां करता है उस पर शक करता है.

अगर आप कभी असफल हो जाते तो लोग कहेंगे की ये तो आदमी एसा ही है, ना इसमें कोई गुण है और ना ही काम करने का जूनून. लेकिन अगर आप ही कुछ समय बाद सफल हो जाते है तो वो ही लोग आकर कहेंगे हमें तो मालूम था ये जरुर बड़ा काम करेगा और सफल होगा. ये याद रखे की प्रकृति हमारे साथ हमेशा न्याय ही करेगी. इसलिए मेरी माने तो अपनी जिंदगी का सिद्धांत इन दो पंक्तियों को बना ले जो किसी प्रसिद्ध कवि की रचना है - "मेरे बारे में यूँ ही कोई राय मत रखना, मेरा वक्त बदलेगा तुम्हारी राय बदल जाएगी".

अब आप समझे लोग तो हर परिस्थिति में कहेंगे. इसलिए आप बस अपना काम करते रहिये और अपनी जीवन में  उस मदमस्त हाथी की तरह आगे बढिए जो अपने पीछे भौंक रहे कुत्तो के सामने देखता तक नहीं है.
                                           
Written By- Ram Lakhara
                                                       ------------------------------------

Write with us-

यदि आपके पास Hindi में है कोई Motivational Article, या कोई भाषण अथवा कोई Inspirational Quotes अथवा Stories तो हमें लिख भेजे vicharprerna@gmail.com पर. आपकी सामग्री krutidev010, Devlys010 or Google unicode फॉण्ट में हो तो बेहतर है. अपनी सामग्री के साथ अपना फोटो जरूर भेजे. यदि सामग्री निश्चित रूप से ब्लॉग के उद्देश्य को पूरा करती है तो इसे विचार प्रेरणा ब्लॉग पर प्रदर्शित किया जायेगा.कुंठाओं और चिन्ताओ से भरी दुनिया में आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी को जीने की राह दिखा सकती है .


No comments:

Post a Comment

Subscribe Every New Post

अब हर नई पोस्ट की सूचना ईमेल के माध्यम से पाए

Enter your email address:-